Bounce Rate क्या है और Bounce Rate कम कैसे करें

Bounce Rate क्या है और Bounce Rate कम कैसे करें – नमस्कार दोस्तों मैं हरिशंकर आपका अपने इस ब्लॉगिंग वेबसाइट पर हार्दिक स्वागत करता हूं। दोस्तों आज मैं फिर आपके लिए बहुत ही इंटरेस्टिंग टॉपिक लेकर आया हूं। आज हम इस ऐप के माध्यम से बात करने वाले हैं Bounce Rate क्या है और Bounce Rate कम कैसे करें के बारे में।

Bounce Rate क्या है और Bounce Rate कम कैसे करें
Bounce Rate क्या है और Bounce Rate कम कैसे करें

दोस्तों अगर आप ब्लॉगिंग करते हैं तो आपको बाउंस रेट के बारे में अवश्य मालूम होगा। और अगर आप ब्लॉगिंग में न्यू है और आपको बाउंस रेट के बारे में नहीं मालूम है। तो हम आपके लिए यह बताना चाहते हैं कि अगर आप ब्लॉगिंग कर रहे हैं तो हमें बाउंस रेट के बारे में जानकारी होना बहुत ही जरूरी है। क्योंकि अगर हमें बाउंस रेट के बारे में नॉलेज नहीं होगी तो हमें ब्लॉगिंग करते टाइम बहुत सारी समस्याओं को फेस करना पड़ेगा।

अगर आप ब्लॉगिंग में न्यू है और आपको अभी तक बाउंस रेट के बारे में जानकारी नहीं है। तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि हम आपको बाउंस रेट के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से देंगे। हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताएंगे कि बाउंस रेट क्या है और बाउंस रेट कम कैसे करें

Read More – Blog Par Traffic Kaise Badhaye : वेबसाइट पर ट्रैफिक लाने के 7 जबरदस्त तरीके

बाउंस रेट हमारी वेबसाइट का एक बहुत ही महत्वपूर्ण Factor है। अगर हमें बाउंस रेट के बारे में सही से नॉलेज नहीं है तो हमें अपने वेबसाइट का Seo करने में बहुत समस्या का सामना करना पड़ेगा। क्योंकि अगर हमारी वेबसाइट का बाउंस रेट ज्यादा होता है तो हमें हमारी वेबसाइट के ट्रैफिक में बहुत अधिक फर्क पड़ता है। और आपकी वेबसाइट को गूगल के सर्च इंजन में रैंक करने में बहुत प्रॉब्लम होती है।

इसलिए हमें सबसे पहले बाउंस रेट के बारे में सही जानकारी होना बहुत ही आवश्यक है। अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। क्योंकि हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से Bounce Rate क्या है और Bounce Rate कम कैसे करें के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से देने जा रहे हैं।

Bounce Rate क्या है

अगर आप ब्लॉगिंग कर रहे हैं और आप अपनी वेबसाइट को गूगल के सर्च इंजन में रैंक कराना चाहते हैं। तो आपको अपनी वेबसाइट का बाउंस रेट के बारे में बहुत अधिक ध्यान देना पड़ेगा। अब हम आपको बाउंस रेट के बारे में समझाते हैं।

मान लीजिए कि हमारी वेबसाइट में जब कोई एक विजिटर आता है। वह विजिटर केवल हमारी वेबसाइट के एक पेज को ओपन करता है। पेज को ओपन करने के बाद अगर तुरंत वह विजिटर हमारे पेज या वेबसाइट से बाहर निकल जाता है। तू इस तरह से हमारी वेबसाइट का बाउंस रेट बढ़ता है। अगर वहीं पर वही विजिटर हमारी वेबसाइट के पेज को ओपन करके 2 से 3 मिनट तक उस पेज पर रुकता है। या फिर उस पेज से दूसरे पेज पर जाता है तो इस तरह से हमारी वेबसाइट का बाउंस रेट घटता है।

हमारी वेबसाइट का बाउंस रेट जितना अधिक कम होगा हमें Seo में उतना ही अधिक बेनिफिट मिलता है। यहीं पर अगर हमारी वेबसाइट का बाउंसर अधिक होता है तो हमें Seo मैं उतना ही अधिक नुकसान उठाना पड़ता है । अगर हमारी वेबसाइट का बाउंस रेट बहुत अधिक होता है तो हमारी वेबसाइट कभी भी गूगल के सर्च इंजन में रैंक नहीं करेगी। इसलिए हमें अपनी वेबसाइट में बाउंस रेट का बहुत अधिक ध्यान देना पड़ता है।

Bounce Rate कितना होना चाहिए

अगर आप ब्लॉगिंग करते हैं तो आपको यह अवश्य मालूम होना चाहिए कि आपकी वेबसाइट का बाउंस रेट कितना होना चाहिए। जिससे कि हमारी वेबसाइट की रैंकिंग में कोई फर्क ना पड़े। आइए हम आपको बताते हैं कि वेबसाइट का बाउंस रेट कितना होना चाहिए।

अगर आपकी वेबसाइट का बाउंस रेट 1% से 10% तक है तो आपकी वेबसाइट मैं कोई प्रॉब्लम नहीं होगी। अगर आपकी वेबसाइट का बाउंस रेट 10% से लेकर 40% तक है तो आपके लिए थोड़ी सी टेंशन की बात है। अधिकतर वेबसाइट का बाउंस रेट 10% से लेकर 40% तक ही रहता है। और अगर आपकी वेबसाइट का बाउंस रेट 40% से लेकर 70% तक है। यह आपके लिए सही नहीं है। आपको अपनी वेबसाइट बाउंस रेट बहुत तेजी से कम करना होगा। नहीं तो आने वाले टाइम में आपकी वेबसाइट के लिए बहुत समस्या हो सकती है।

अगर वहीं पर आपकी वेबसाइट का बाउंस रेट 70% से अधिक है तो यह आपके लिए बहुत ही अधिक टेंशन की बात है। यानी आप की वेबसाइट डेंजर कैटेगरी में आ चुकी है। आपको बहुत ही जल्दी से अपनी वेबसाइट का बाउंस रेट कम करना होगा। नहीं तो आपके गूगल रैंकिंग में बहुत अधिक बदलाव देखने को मिलेंगे। आपकी वेबसाइट गूगल की रैंकिंग से धीरे-धीरे नीचे आने लगेगी।

Bounce Rate कम कैसे करें

अगर हम ब्लॉगिंग कर रहे हैं और हम अपनी वेबसाइट को गूगल के सर्च इंजन में Rank कराना चाहते हैं। तो आपको अपनी वेबसाइट में बाउंस रेट का विशेष ध्यान देना पड़ता है। और अगर किसी कारणवश आपके वेबसाइट का बाउंस रेट बढ़ जाता है। या फिर आप चाहते हैं कि आप की वेबसाइट का बाउंस रेट अधिक ना हो। तो इसके लिए हम आपको कुछ तरीके बताने जा रहे हैं। अगर आप इन तरीकों को फॉलो करेंगे तो आपकी वेबसाइट का बाउंस रेट कभी भी कम नहीं होगा। और अगर आपकी वेबसाइट का बाउंस रेट बढ़ गया है तो आप अपने वेबसाइट का बाउंस रेट इन तरीकों को फॉलो करके कम कर सकते हैं।

1 – Quality Content

अगर आप अपनी वेबसाइट को फेमस करना चाहते हैं। या फिर आप अपनी वेबसाइट का एक ब्रांड बनाना चाहते हैं। तो आपको अपनी वेबसाइट के लिए अच्छे हाई क्वालिटी कंटेंट लिखने होंगे। अगर आप अपनी वेबसाइट में हाई क्वालिटी कंटेंट लिखते हैं तो आपके वेबसाइट के आर्टिकल गूगल के सर्च इंजन में बहुत ही आसानी से Rank होंगे।

अगर आप अपनी वेबसाइट पर हाई क्वालिटी कंटेंट पब्लिश करते हैं। तो आपकी वेबसाइट का बाउंस रेट कभी भी ज्यादा नहीं होगा । क्योंकि आपके वेबसाइट पर जो भी यूजर आएगा वह आपके आर्टिकल को देखेगा। क्योंकि हर कोई विजिटर यूनिक और अच्छा हटकर पढ़ना चाहता है। इसलिए हमें अपने वेबसाइट पर हरदम यूनिक और हाई क्वालिटी कंटेंट पब्लिश करना चाहिए।

2 – Site Design

दोस्तों यह तो सभी लोग जानते हैं कि सभी लोगों को अच्छी चीजें ज्यादा अट्रैक्ट करती हैं। इसलिए हमें अपनी वेबसाइट का डिजाइन बहुत ही सिंपल रखना चाहिए। जिससे कि जब कोई विजिटर आपके वेबसाइट पर आए तो उसे वहां पर एक सिंपल और यूनिट वेबसाइट दिखनी चाहिए।

आपकी वेबसाइट जितनी अधिक सिंपल होगी। उतने ही अधिक लोग आपकी वेबसाइट को पसंद करेंगे। आपको अपनी वेबसाइट में Font Color और Text Size का विशेष ध्यान देना होता है। आपको अपने वेबसाइट का टेक्स्ट साइज ऐसा रखना चाहिए जिससे कि यूजर को आपका आर्टिकल पढ़ने में कोई समस्या ना हो।

3 – Page Load Time पर ध्यान दें

अगर आप अपनी वेबसाइट का बाउंस रेट कम रखना चाहते हैं। तो आपको अपनी वेबसाइट के Page Load Time पर विशेष ध्यान देना होगा। क्योंकि अगर आपके वेबसाइट पर कोई भी विजिटर आता है और आपके वेबसाइट का पेज बहुत देर से ओपन होता है। तो वह विजिटर आपके पेज यानी वेबसाइट को बंद कर देगा। क्योंकि कोई भी विजिटर आपकी वेबसाइट पर ज्यादा देर नहीं रुकेगा। आपकी वेबसाइट को बंद करके वह दूसरी वेबसाइट को ओपन कर लेगा। इसलिए हमें अपनी वेबसाइट का पेज लोड टाइम बहुत फास्ट रखना चाहिए।

4 – Internal Linking जरूर ऐड करें

अगर आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट के बाउंस रेट को कम करना चाहते हैं। तो आपको अपने आर्टिकल में Internal Linking का यूज अवश्य करें। क्योंकि Internal Linking हमारी वेबसाइट के बाउंस रेट को कम करने में बहुत अधिक यूज़फुल साबित होती है। क्योंकि जब कोई यूजर हमारे वेबसाइट के आर्टिकल को पड़ता है तो वहां पर जब उसे दूसरे आर्टिकल का Internal Link दिखता है तो वह इस आर्टिकल को जरूर पड़ता है। अगर वह यूजर इस तरह से Internal Link को ओपन करके दूसरा आर्टिकल पड़ता है तो हमारी वेबसाइट का बाउंस रेट कम होता है। क्योंकि वह यूजर हमारी वेबसाइट पर बहुत अधिक टाइम तक रुकता है।

Read More – Wikipedia Par Page Kaise Banaye

इसलिए जब हम अपनी वेबसाइट में कोई आर्टिकल लिखते हैं। तो हम उस आर्टिकल के अंदर आर्टिकल के रिलेटेड दूसरे पोस्ट का Internal Linking अवश्य करना चाहिए। मान लीजिए कि आप ब्लॉगिंग रिलेटेड आर्टिकल लिख रहे हैं। तो आपको उस ब्लॉगिंग रिलेटेड आर्टिकल कैमरा दूसरे ब्लॉगिंग रिलेटेड आर्टिकल का Internal Link अवश्य देना चाहिए।

5 – Mobile Friendly Blog

यह तो सभी लोग जानते हैं कि आज के टाइम में मोबाइल यूजर्स की संख्या धीरे-धीरे बढ़ती ही जा रही है। इसलिए हमें व्यवसाई बनाते टाइम अपनी वेबसाइट का डिजाइन मोबाइल फ्रेंडली अवश्य रखना चाहिए। क्योंकि हमारी वेबसाइट पर सबसे अधिक यूजर मोबाइल के माध्यम से ही आते हैं।

इसलिए हमें अपनी वेबसाइट का डिजाइन मोबाइल फ्रेंडली रखें। जिससे कि आपकी वेबसाइट को जब कोई यूजर मोबाइल पर ओपन करें तो उसे मोबाइल फ्रेंडली वेबसाइट ओपन होनी चाहिए। अगर आपकी वेबसाइट मोबाइल फ्रेंडली नहीं है तो आपकी वेबसाइट मोबाइल पर सही से ओपन नहीं होगी। और जो यूजर आपके वेबसाइट को मोबाइल पर ओपन करेगा। जब आपकी वेबसाइट मोबाइल पर सही से ओपन नहीं होगी तो वह यूजर आपकी वेबसाइट को बंद करके दूसरी वेबसाइट को ओपन कर लेगा।

निष्कर्ष

दोस्तों हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से Bounce Rate क्या है और Bounce Rate कम कैसे करें के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से दी है। आशा करता हूं कि आप यह आर्टिकल पढ़ने के बाद आपको बाउंस रेट के बारे में पूरी जानकारी सही से मिल गई होगी।

अगर आपकी वेबसाइट का बाउंस रेट बहुत अधिक है। तो आप हमारे द्वारा बताए गए तरीकों को फॉलो करके अपनी वेबसाइट के बाउंस रेट को कम कर सकते हैं। दोस्तों आशा करता हूं कि यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। अगर आप हमारे द्वारा दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो आप प्लीज हमारी इस आर्टिकल को फेसबुक टि्वटर व्हाट्सएप इंस्टाग्राम पर शेयर अवश्य करें धन्यवाद।

2 thoughts on “Bounce Rate क्या है और Bounce Rate कम कैसे करें”

Leave a Comment