Google search console में वेबसाइट कैसे add करे?

Google search console me website kaise add kare – Google Search Console को सबसे पहले वेबमास्टर टूल के नाम से जाना जाता था यदि आप जानते हैं कि गूगल वेबमास्टर टूल क्या है तो आपका काम आसान हो जाएगा क्योंकि इससे आपको गूगल सर्च कंसोल (Google Search Console) को समझने में काफी आसानी होगी और यदि आप यह नहीं जानते हैं कि गूगल वेबमास्टर टूल क्या है? या गूगल सर्च कंसोल (Google Search Console) क्या है? तो तो घबराइए मत इस लेख के माध्यम से आज आपको बताने जा रहे हैं कि गूगल सर्च कंसोल (Google Search Console) क्या है ?

गूगल सर्च कंसोल (Google Search Console) एक फ्री Tool है जो गूगल (Google) के द्वारा बनाया गया है | इससे आप अपने वेबसाइट की परफॉर्मेंस और उसमें होने वाले दिक्कतों को देख सकते हैं। इसके मदद से आप अपने वेबसाइट को सर्च रिजल्ट (Search Result) में अपनी वेबसाइट पर फॉर्मेंस को भी आसानी से Improve कर सकते हैं। आसान शब्द में कहा जाए तो Google Search Console के मदद से आप अपने वेबसाइट पर नजर रख सकते हैं और इससे अपनी वेबसाइट से जुड़े सभी जानकारियों को प्राप्त कर सकते हैं तथा अपने वेबसाइट को गूगल के सर्च रैंकिंग (Google Search Ranking) में सुधार कर सकते हैं।

गूगल सर्च कंसोल (Google Search Console) क्या है इससे आप किस तरह की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं ?

google search console me acount kaise banaye
  • गूगल सर्च कंसोल (Google Search Console) की मदद से आप यह पता लगा सकते हैं कि आपकी वेबसाइट पर कितने लोग Visit कर रहे हैं इससे आप अपनी वेबसाइट के आप aily, weekly, monthly, quarterly , और yearly data देख सकते हैं |
  • गूगल सर्च कंसोल (Google Search Console) आपको बताता है कि आपके वेबसाइट को लोग कि कैसे ढूंढ रहे हैं। यह आपके विजिटर के आने के सोर्स को अलग-अलग माध्यम से चेक करता है और आपको सटीक जानकारी प्रदान करता है। यह आपको फेसबुक यूट्यूब इंस्टाग्राम या अन्य सोशल नेटवर्क या किसी अन्य प्लेटफार्म से आने वाले यूजर्स के डाटा को आप तक पहुंचाता है।
  • गूगल सर्च कंसोल आपको यह भी बताता है कि आपके विजिटर आपके वेबसाइट को मोबाइल पर ज्यादा देख रहे हैं या फिर ट्रैक्टरों की या कंप्यूटर पर।
  • गूगल सर्च कंसोल आपको यह भी बताता है कि आपके वेबसाइट का कौन सा पेज या कौन सा आर्टिकल लोगों के द्वारा सबसे ज्यादा बार देखा जा रहा है और कौन सा आर्टिकल गूगल में सबसे ज्यादा पॉपुलर हो रहा है और लोग इसे कितनी बार सर्च कर रहे हैं यह इसके इंप्रेशन को भी अकाउंट करता है और इसके क्लिक्स को भी |
  • गूगल सर्च कंसोल (Google Search Console) में आप अपनी वेबसाइट के साइटमैप को भी सबमिट कर सकते हैं। जिससे आप जैसे ही अपनी वेबसाइट पर कोई भी नया आर्टिकल या कोई भी नया लेख पोस्ट करेंगे वह ऑटोमेटेकली गूगल सर्च कंसोल (Google Search Console) में ऐड हो जाएगा और लोगों को गूगल में सर्च (Google Search) करने पर दिखाई देगा।

आज के इस लेख में हम आपको गूगल सर्च कंसोल (Google Search Console) में अपने वेबसाइट को कैसे रजिस्टर करें और इससे आप अपनी वेबसाइट के Perfomance को कैसे चेक करें इसके बारे में बताने जा रहे हैं इससे आप अपने वेबसाइट में होने वाले दिक्कत यानी कि Error को भी ढूंढ सकते हैं और इसे आप चेक कर सकते हैं। इसकी मदद से आप अपने वेबसाइट की परफॉर्मेंस को लगातार चेक कर सकते हैं और अपने वेबसाइट के परफॉर्मेंस को गूगल सर्च में और भी सुधार सकते हैं।

Add your Website to Google Search Console

google search console add site 2

अगर आप अपने वेबसाइट के परफॉर्मेंस को और इसके सर्च रैंकिंग को सुधारना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको अपनी वेबसाइट को गूगल सर्च कंसोल में रजिस्टर करना होगा। अगर आप भी अपने साइट को गूगल सर्च कंसोल में ऐड करना चाहते हैं। तो आप नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करके अपने वेबसाइट को गूगल सर्च कंसोल में ऐड कर सकते हैं। और अपने वेबसाइट पर कमेंट और रैंकिंग को सुधार सकते हैं।

Step 1 : सबसे पहले आपको अपने जीमेल अकाउंट से गूगल सर्च कंसोल में साइन इन करना होगा। इसमें आपको यह ध्यान रखना जरूरी है कि आपको उसी ईमेल के साथ लॉगइन करना है जिस ई-मेल से आपके वेबसाइट को रजिस्टर किया गया है।

Step 2 : ई-मेल से लोगिन करने के बाद आपको गूगल सर्च कंसोल में जाना है और अब Start Now पर क्लिक करके आपने Url में अपना Website या Domain Name को डालना है उसके बाद Continue पर क्लिक करना है।

Step 3 : कंटिन्यू पर क्लिक करने के बाद आपको अपनी वेबसाइट डोमेन (Website Domain) को वेरीफाई Verify करने के लिए नीचे दिए गए मेथड पर क्लिक करना होगा जिसके माध्यम से आप अपने डोमेन को वेरीफाई करना चाहते हैं।

Verify Your Website Ownership:

domain verify

आप अपने वेबसाइट को वेरीफाई करने के लिए पांच ऑप्शन दिखाई देंगे जो इस प्रकार से हैं :-

  1. HTML file Upload
    2.HTML tag
  2. Google Analytics
  3. Google tag manager
  4. Domain name provider

वैसे तो आप ऊपर दिए गए किसी भी माध्यम से अपने वेबसाइट को वेरीफाई कर सकते हैं लेकिन सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला जरिया है HTML tag के माध्यम से वेबसाइट को वेरीफाई करना। लेकिन इस लेख में हम आपको सभी मेथड से अपनी वेबसाइट को वेरीफाई करने के बारे में बताने जा रहे हैं।

HTMl File Upload

गूगल सर्च कंसोल (Google Search Console) में इस तरीके के माध्यम से आपको अपने वेबसाइट में एक HTML फाइल को एक specific location पर Upload करना होगा। जब आप गूगल सर्च कंसोल (Google Search Console) में डोमेन वेरिफिकेशन (Domain Verification) के लिए इस Method को चुने गए तो आपको एक फाइल डाउनलोड (File Download) करने का ऑप्शन दिखाई देगा।

सबसे पहले आपको उस फाइल को डाउनलोड करना होगा और सर्च कंसोल में बताई गई जगह पर उस फाइल को अपलोड करना होगा उसके बाद आप सर्च कंसोल पर जाकर वेरीफाई बटन पर क्लिक करके अपने वेबसाइट को वेरीफाई करना होगा या कुछ समय में आपके वेबसाइट को वेरीफाई कर लेगा और आपको एक ग्रीन नोटिफिकेशन (Notification) दिखाई देगा जिससे आपका डोमेन वेरीफाई (Domain Verify) होने का संदेश प्राप्त होगा।

HTML Tag :

अपने वेबसाइट को वेरीफाई करने का सबसे अच्छी तरीका या है कि आप एचटीएमएल टैग का इस्तेमाल करें। जैसे कि एचटीएमएल फाइल में आपको एक फाइल अपलोड करना होता है वैसे ही इस तरीके में आपको एक कोड या Tag को specific location पर डालना होता है।

जब आप गूगल सर्च कंसोल में अपने वेबसाइट के डोमेन को वेरीफाई करने के लिए HTML Tag को चुनते हैं तो वहां एक HTML का कोड दिखाई देने लगता है। आपको उसे कॉपी करके अपने वेबसाइट के होमपेज के Tag के अंदर और के ऊपर पेस्ट करना होता है।

Paste के बाद आपको दोबारा से गूगल सर्च कंसोल को ओपन करना और वेरीफाई बटन पर क्लिक करके अपने टोकन को वेरीफाई करना है कुछ समय के बाद आपका डोमेन वेरीफाई हो जाएगा और आप गूगल सर्च कंसोल के सभी फीचर को यूज़ कर पाएंगे।

Google Analytics :

अगर आप पहले से Google Search Console का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आप अपनी वेबसाइट को गूगल सर्च कंसोल में वेरीफाई करने के लिए इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। इसमें आपको अपने वेबसाइट को वेरीफाई करने के लिए दो तरह के रिक्वायरमेंट को डालना होगा।

  • आपकी website के homepage पर Google Analytics snippet होना चाहिए।
  • Edit” permission in Google Analytics property.

इस तरीके में आपको अपने Google Analytics code को अपनी website के homepage में टैग में रखना होता है और website के verify हो जाने के बाद भी उसे वहां से कभी हटाना नहीं होता।

Google Tag Manager:

अगर आप पहले से गूगल टैग मैनेजर (Google Tag Manager) का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको इस तरीके का इस्तेमाल करने में किसी भी तरह की दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा। आप अपनी वेबसाइट को वेरीफाई करने के लिए इस तरीके का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इस तरीके को इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले आपको अपने गूगल टैग मैनेजर (Google Tag Manager) को ओपन करना होगा और उसके सेटिंग में View, Edit और Manage, परमिशन को इनेबल करना होगा।
आपको यह भी धयान रखना है कि Google tag manager का code आपकी website के homepage के section के बाद डाला हुआ है। इन दोनो बातो को पूरा करने के बाद आपको गूगल सर्च कंसोल में verification tab पर जाना है और verify पर click करना होगा। कुछ ही समय मे आपकी website verify हो जाएगी।

Domain Name Provider:

गूगल सर्च कंसोल में अपनी वेबसाइट को वेरीफाई करने के लिए यह सबसे आखरी और थोड़ा टेक्निकल तरीका है। जब आप अपने डोमेन को वेरीफाई करने के लिए इस ऑप्शन को चुनते हैं तो आपको आपको एक txt फाइल दिखाई देगा। आपको txt फाइल को copy करके उसे अपने डोमेन के DNS में जाकर txt फाइल create करके वहां paste करना है उसके बाद वेरीफाई बटन पर क्लिक करना है। उसके बाद आपका वेबसाइट डोमेन गूगल सर्च कंसोल में ऐड हो जाएगा।

Leave a Comment